मकर राशि के लिए कैल्शियम फ़ॉस्फेट

$25,00

SKU: 748367096013 Category:

Description

कैल्शियम फॉस्फेट, 100ग्राम पैकेट – मकर राशि के लिए

100% पेड़ों के अर्क से बना|

आपके 3 मिनरल जो राशि के जातक के लिए आवश्यक हैं वर्ष के उन बचे हुए महीनों को दिखाते हैं जब माँ गर्भवती नहीं थी|

 

सम्पूरक आहार

तैयारी और सप्लीमेंट का सेवन

1 चम्मच (5ग्राम) पाउडर को एक गिलास गर्म पानी में घोलें| रोज एक बार, खाने के बाद सेवन करें| सप्लीमेंट के सेवन के दौरान, प्रतिदिन कम से कम 1 लीटर पानी पिएँ|

इससे पहले उपयोग कर लें:

उत्पादन तिथि से 24 माह तक (तारीख और बैच नंबर पैकेट पर छपे हैं)|
कमरे के सामान्य तापमान (15-25°C) में, सूखे और अँधेरे स्थान पर, बच्चों की पहुँच से दूर रखें|

चेतावनी:

सम्पूरक आहार या डाइटरी सप्लीमेंट मुख्य आहार और स्वस्थ जीवनशैली की जगह नहीं ले सकते हैं| दैनिक अनुशंसित खुराक से ज्यादा का सेवन न करें| यदि आपको उत्पाद में मौजूद किसी तत्व से एलर्जी है तो इसका सेवन न करें| गर्भावस्था और दूध पिलाने के दौरान इन दवाओं का प्रयोग न करें| इस उत्पाद में खनिज लवण हैं जो शारीरिक क्रियाओं में सहायता देते हैं| वे कोशिकीय स्तर पर काम करते हैं और कोशिकाओं को क्रियाशील रखते हैं। ये लवण चयापचय प्रक्रियाओं में भाग लेते हैं और दैनिक आहार में निहित पोषक तत्वों के अवशोषण में सहयोग देते हैं।

कैल्शियम फॉस्फेट की कमी से होने वाली बीमारियों प्रभावित होने वाले शरीर के महत्वपूर्ण अंग:  पाचन तंत्र, आस्तियां, घुटने, सेकरम(कमर के पीछे की तिकोन अस्थि), एलब्यूमिन, अस्थि-पंजर-तंत्र, दाँत, जोड़, पित्ताशय और त्वचा

दाहिना घुटना, बायाँ घुटना, जांघ की त्वचा के नीचे के स्नायु, पिंडली की त्वचा के नीचे के स्नायु, घुटने की त्वचा के स्नायु, बाईं उपचालक पेशी, लसीका वाहिका – घुटने, घुटने के स्नायु, दाहिने क्रॉसरूपी अस्थिबंध, बाएँ क्रॉसरूपी अस्थिबंध,, दाहिने घुटने का जोड़, बाएँ घुटने का जोड़, दाहिने घुटने की उपास्थि, बाएँ घुटने की उपास्थि, दायाँ अंतर्जङ्घिका अस्थिकंद, , बायाँ अंतर्जङ्घिका अस्थिकंद, दाएँ घुटने के अस्थिबंध, बाएँ घुटने के अस्थिबंध, दाएँ घुटने की कंडराएँ , बाएँ घुटने की कंडराएँ, टांगों के ऊपर आओर नीचे पेशियों के सिरों के बंधन, जांघ और अंतर्जङ्घिका के बीच संबंध, गहरे स्नायु, दाहिने घुटने के चारो ओर की धमनी, बाएँ घुटने के चारो ओर की धमनी, उपचालक पेशी

 

इस खनिज तत्व की आवश्यकता शरीर को किसी भी अन्य तत्व से कहीं अधिक होती है, क्योंकि शरीर को
हड्डियों की कमियों को ठीक करने के लिए इसकी काफी मात्रा ज़रूरी है। तथ्य यह सिद्ध करते हैं इस खनिज को इस राशि से जोड़कर देखना सही है।

शनि हड्डियों को प्रभावित करता है, और हड्डियाँ हमारे शरीर का सबसे मजबूत हिस्सा हैं, क्योंकि शरीर के
अन्य भागों का क्षरण हो जाने के बाद भी हड्डियाँ वर्षों तक वैसी की वैसी बनी रहती हैं। यह लवण न केवल
अस्थिपंजर के विकास और स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है, यह हर कोशिका के अस्थि वाले हिस्से का कुछ
भाग भी बनाता है। यह शरीर की “आधारशिला” के लिए चूने और गारे की तरह है जैसा कि सभी ढांचों में
होता है।

गारा या श्लेष्मा (प्रोटीन या पीयूष ग्रंथि से निकालने वाला एक पदार्थ) मेष राशि के जरिए बंता है। शरीर
का मूलभूत ढांचा बनाने के लिए यह कैल्शियम की मदद से उसे बांधता है। इसके बिना किसी भी कोशिका
का निर्माण नहीं हो सकता है।

प्रोटीन और कैल्शियम के अनुपात पर निर्भर करता है कि बनने वाला पदार्थ सख्त होगा या नर्म। कहा जाता
है कि दोनों चीजें आवश्यक हैं।

कैल्शियम की कमी से अत्यधिक प्रोटीन या श्लेष्मा बंता है; इस परिस्थिति में प्रोटीन का उपयोग नहीं हो पता है, इसके लिए पर्याप्त कैल्शियम जरूरी है। अतिरिक्त श्लेष्मा बनने से सर्दी-जुकाम हो सकती है।

साधारण सर्दी-जुकाम शरीर से अतिरिक्त श्लेष्मा निकालने का प्राकृतिक तरीका है।

कैल्शियम फॉस्फेट की कमी से श्लेष्मा टॉन्सिल में इकट्ठा हो जाता है और उसमें सूजन आ जाती है।

कभी-कभी उनकी स्थिति इतनी खराब हो जाती है कि ये तपेदिक का रूप ले लेता है, लगभग क्षय हो जाता
है और पूरी तरह बलगम से ढक जाता है, लेकिन कैल्शियम फॉस्फेट लवण दस माह इसे पहले की तरह
पूर्णतया स्वस्थ स्थिति में वापस ला सकता है।

Additional information

Weight 0.1 kg